Muniba Mazari Biography in hindi | मुनिबा मज़ारी की जीवनी

Muniba Mazari Biography in hindi | मुनिबा मज़ारी की जीवनी

Muniba Mazari Biography in hindiमुनिबा मज़ारी, आयरन लेडी ऑफ पाकिस्तान और फस्ट व्हीलचेयर मॉडल के नाम से पूरी दुनिया मे प्रसिद्ध है। लेकिन ये नाम उन्होंने एक दर्दनाक कार हादसे के बाद हासिल किया। जबकि कार हादसे के पहले वो एक हाउसवाइफ थी। ये आश्चर्य की बात है की जब वो एक सामान्य इंसान थी तब उनका कोई पहचान नहीं था। लेकिन जब कार हादसे के बाद उनका आधा शरीर बेजान हो गया तब उन्होंने कामियाबी का वो मुकाम हासिल किया जो अधिकांश लोगो के लिए एक सपने के सामान होता है। तो आइये जानते है मुनिबा मज़ारी की जिंदगी की प्रेरणादायक कहानी।

also read 👇

Best Success Story Of Rose Blumkin | 95 की उम्र मे खड़ी की सबसे बड़ी Company
Biography of J. K. Rowling in Hindi जे. के. रोलिंग की जीवनी

Muniba Mazari Biography in hindi | मुनिबा मज़ारी की जीवनी

मुनिबा का जन्म एक बलोच पुरिवार में हुआ था। मुनिबा का बचपन से ही एक पेंटर बनने का सपना था, लेकिन उनका परिवार रूढ़िवादी किस्म का था। मुनिबा की शादी 18 साल की उम्र में कर दी गई । लेकिन उनकी शादीशुदा जिंदगी ज्यादा खुशहाल नहीं थी। शादी के दो-तीन साल बाद ही एक ऐसी दुर्घटना हो गयी जिसने मुनिबा की जिंदगी को ही बदल कर रख दिया।

शादी के 2 साल बाद, 2007 में मुनिबा एक भयंकर दुर्घटना का शिकार हुईं। उनके पति ख़ुर्रम शहज़ाद गाड़ी चलाते-चलाते सो गए थे और गाड़ी खाई में जा गिरी। ख़ुर्रम ने खुद कार से बाहर कूद गये और मुनिबा कार में ही रहीं। मुनिबा को कार से खींचकर निकालना पड़ा। 21 साल की उम्र में किसी और की ग़लती की वजह से मुनिबा ज़िन्दगी भर के लिए पैरालाइज़्ड हो गईं। उनकी रीढ़ की हड्डी टूट चुकी थी, उनकी बांह, कंधे, कॉलरबोन और रिब केज टूट गए थे। उनके लिवर और फेफड़े भी क्षतिग्रस्त हुए थे।


डॉक्टर्स आते और मुनिबा को उनके स्वास्थ्य के बारे में उन्हें बेहद ही दुःखद समाचार देते। डॉक्टर्स ने उन्हें पहला दुःखद समाचार दिया कि कंधे और बांह में लगी चोटों की वजह से अब वो कभी पेंटिंग नहीं कर पाएंगी। दूसरा समाचार ये दिया कि स्पाइन में लगी चोट की वजह से वो कभी चल नहीं पाएंगी। तीसरा और सबसे दर्दनाक दुःखद बात ये बताया कि स्पाइनल कॉर्ड में लगी चोट की वजह से वो कभी माँ नहीं बन पाएंगी। मां न बन पाने की ख़बर मुनिबा के लिए सबसे दर्दनाक थी।

Muniba Mazari Biography in hindi | मुनिबा की हौसलो की कहानी

also read 👇

Biography of Warren Buffett in Hindi | वॉरेन बफेट की जीवनी

Cryptocurrency Kya Hai in Hindi 2022 ? यह कैसे काम करती है ।

Muniba Mazari Biography in hindi
Muniba Mazari Biography in hindi

मुनीबा के जीवन में सबसे बड़ा तूफान तो तब आया जब उनके पति ने उन्हें तलाक दिया और उनके पिता भी इन मुश्किल हालातों में उनको छोड़ के चले गए। लेकिन जहा एक तरफ मुनीबा के जीवन में एक एक कर के कई तकलीफे आ रही थी वही मुनीबा इन तकलीफो से लड़ने के लिए एक बुलंद हौसलों की मालकिन बन रही थी ,और शायद उनकी यही हौसला उन्हें भविष्य में एक विजेता बनाया।


इन मुश्किल हालत में मुनीबा की माँ उनकी सबसे बड़ी ताकत बनकर खड़ी थी। मुनिबा ने अपनी माँ से पूछा कि ऊपरवाले ने उनके साथ ही ऐसा क्यों किया? मुनिबा की माँ के पास भी कोई जवाब नहीं था। मुनिबा कई बार ख़ुद से पूछतीं, कि आख़िर वो ज़िन्दा ही क्यों हैं?

ऐसे हालातों में भी मुनिबा ने सकारात्मक रहने की पूरी कोशिश की। जो भी उनसे मिलने आता वो उनके सामने हाय-तौबा नहीं करती और मुस्कुराकर मिलतीं। इस रवैया पर कई लोग पूछ देते कि वो सच में ‘ठीक’ है न?

एक दिन मुनिबा ने अपने भाईयों से कहा कि वो अस्पताल की चार दीवारी में घुट रही हैं, वो पेंट करना चाहती हैं और उन मुश्किल हालातों में मुनिबा ने पेंट किया। वो किसी से बिना कुछ कहे सिर्फ़ अपने एहसासों को कैंवस पर उतारतीं। लोग आते और उनकी पेंटिग्स की तारीफ़ करते पर किसी को भी उसके पीछे छिपा दुख नज़र नहीं आता।

Muniba Mazari Biography in hindi | मुनिबा की सफलता

मुनिबा ने निर्णय कर लिया कि ‘वो खु़द के लिए जीएंगी। मुनिबा ने तय कर लिया था कि वो किसी के लिए ‘परफ़ेक्ट’ नहीं बनेंगी। वो समय लेंगी और ख़ुद को ख़ुद के लिए बेहतर बनाएंगी। मुनिबा ने अपने सभी डर का सामना करने का दृढ़ निश्चय कर लिया और सबको एक कागज़ पर लिखा और एक-एक करके सबका सामना करके जीतने की ठानी।

मुनिबा को बताया गया था कि वो कभी किसी बच्चे को जन्म नहीं दे सकती। इस बात से निराश हो चुकीं मुनिबा को ध्यान आया कि दुनिया में ऐसे कई बच्चे हैं जिनका कोई नहीं है। उन्होंने तय किया कि रोने के बजाए वो किसी बच्चे को गोद ले सकती हैं। उन्होंने एक बच्चे को गोद लिया। मुनिबा ने पाकिस्तान के ही एक 2 दिन के बच्चे को गोद लिया।


मुनिबा ने व्हीलचेयर पर बैठे-बैठे ही वो कर दिखाया जो शायद उसके एक्स-पति या पिता कभी नहीं कर पाएं। मुनिबा ने कई ऐड कैंपेन किए, पाकिस्तान के टीवी पर बतौर एंकर काम करना शुरू किया, पेंटिंग करती रहीं और दुनिया को दिखाया कि व्हीलचेयर पर बैठा इंसान क्या-क्या नहीं कर सकता। मुनिबा पाकिस्तान की पहली व्हीलचेयर बाउंड मॉडल हैं, पहली व्हीलचेयर बाउंड एंकर हैं।

वो संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की नेशनल एम्बेस्डर हैं। बता दे ब्रिटिश समाचार संस्था बीबीसी ने साल 2015 में उन्हें अपनी 100 वुमन सीरीज में शामिल किया था और फोर्ब्स पत्रिका ने साल 2016 में 30 साल से कम उम्र की दुनिया की 30 शख्सियतों में शुमार किया था।

आज मुनिबा मज़ारी दुनिया के सफल लोगो में अपनी पहचान बनाकर उन तमाम लोगो के लिए एक उदहारण पेश क़िया है जो बहाने बनाकर अपना पूरा जीवन बर्बाद कर देते है। मुनीबा की कामयाबी इस बात की सबूत है की अगर इंसान के जीवन मे कोई Goal हो और उसे पाने की जिद हो तो दुनिया की कोई भी ताकत उसे हासिल करने से रोक नहीं सकती है।

Also Read: जे. के. रोलिंग की जीवनी – Biography of J. K. Rowling in Hindi

Muniba Mazari Biography in hindi | Summary

Muniba Mazari Biography in hindi के इस पोस्ट मे मैंने मुनिबा के जिंदगी की सफलता की पूरी कहानी आपके साथ share करने का प्रयास की हूँ । और मुझे पूरा विश्वास है की यदि आप भी अपनी जिंदगी मे किसी मुसीबत से घिरे है तो ये real life story आपको अपनी जिंदगी मे आगे बढ़ने की प्रेरणा जरूर देगी ।

कहते है इंसान के जिंदगी मे जब तूफान आता है तो या तो वो बिखर जाता है या फिर वो निखार जाता है । ये हम पर निर्भर करता है की हम उस तूफान से कुछ सीखते है या खुद को कोसते है। क्योंकि हम जिस तरह से उस तूफान का सामना करेंगे । हमारी जिंदगी उसी के अनुरूप होगी ।

Muniba Mazari ka Biography भी तो हमे यही सिखाती है की हालत चाहे कितनी भी कठिन क्यों ना हो यदि हम सकारात्मक सोच के साथ उसका सामना करने की ठान ली तो फिर कोई हमारा साथ दे या ना दे पर हम अपनी बुलंद हौसलों के बल पर कामियाबी की वो कहानी लिख सकते है जिसे दुनिया पढ़ने पर मजबूर हो जाएगी ।

Dear Friends Muniba Mazari Biography in hindi का ये पोस्ट आपको कैसा लगा आप हमे अपना विचार comment के मध्ययम से बात सकते है । तथा आप अगला पोस्ट किस विषय पर पढ़ना चाहते है आप अपना सुझाव भेज सकते है ।

आप इस पोस्ट को पूरा पढ़े इसके लिए आपका बहुत बहुत धन्यबाद ।

Ragini Sinha

मैं रागिनी सिन्हा Founder of RaginiMotive.com. raginimotive.com की स्थापना के पीछे मेरी एक ही कोशिश है कि मैं अपने अनुभवों तथा ज्ञान को आपके साथ साझा करके आपकी कुछ मदद या आपको inspire कर सकूं। Thank You.

10 thoughts on “Muniba Mazari Biography in hindi | मुनिबा मज़ारी की जीवनी

Leave a Reply

Your email address will not be published.